हमेशा खुश रहने में मदद करते हैं ये हार्मोंस, आप भी इनके जरिए दूर करिए स्ट्रेस



<p>हैप्पीनेस यानी खुशी वो खास चीज है जो हम सभी चाहते हैं. ये सिर्फ एक शब्द नहीं, बल्कि वो एहसास है जो हमें जिंदगी के सच्चे मतलब से जोड़ता है. खुश रहना हमें बताता है कि मुश्किल समय में भी हम कैसे मुस्कुरा सकते हैं और अच्छाई की ओर देख सकते हैं. और सबसे खास बात, खुशी हमें याद दिलाती है कि असली जादू हमारे अंदर ही होता है, न कि बाहरी चीजों में.&nbsp;इस खुशी की राह में, हमारे शरीर के अंदर कुछ खास तत्व हमारे साथी बनते हैं.&nbsp; ये हैं डोपामाइन, ऑक्सीटोसिन, सेरोटोनिन, और एंडोर्फिन्स. ये चारों हमारे मूड को अच्छा करते हैं, हमें खुशी महसूस कराते हैं, और हमें उन छोटी-छोटी चीजों का आनंद लेने में मदद करते हैं जो हमें वास्तव में खुश करती हैं. आइए जानें कि ये तत्व हमें कैसे खुश रखते हैं.</p>
<p><strong>डोपामाइन</strong><br />यह हमारे दिमाग में बनने वाला एक खास रसायन है जो हमें खुश और संतुष्ट महसूस कराता है. इसे अक्सर ‘खुशी का हार्मोन’ कहा जाता है. जब हम कोई लक्ष्य हासिल करते हैं, नई चीज़ें सीखते हैं, या अपनी पसंदीदा चीजें करते हैं, तब हमारे दिमाग में डोपामाइन का स्तर बढ़ जाता है. यह हमें अच्छा महसूस कराने के साथ-साथ मोटिवेशन भी देता है, जिससे हम और भी ज्यादा काम करने की ओर आकर्षित होते हैं. इसका सही स्तर हमें जीवन में सकारात्मक और उत्साहित रखता है. इसलिए, डोपामाइन हमारी खुशी और संतुष्टि के लिए बहुत महत्वपूर्ण है.&nbsp;</p>
<p><strong>ऑक्सीटोसिन<br /></strong>ऑक्सीटोसिन एक खास हार्मोन है जिसे अक्सर ‘प्यार का हार्मोन’ कहा जाता है. यह हमारे शरीर में तब बनता है जब हम किसी के साथ गले मिलते हैं, दोस्ती महसूस करते हैं या किसी से प्यार करते हैं. ऑक्सीटोसिन हमें दूसरों के साथ जुड़ने में मदद करता है और विश्वास व सहयोग की भावना बढ़ाता है. यह हार्मोन हमें शांत और सुरक्षित महसूस कराने के साथ-साथ संबंधों में गहराई और मजबूती लाने में भी मदद करता है. इसकी वजह से हम अपनों के साथ खुशी के पल साझा कर पाते हैं और ये हमें और अधिक सामाजिक बनाता है.&nbsp;</p>
<p><strong>एंडोर्फिन्स<br /></strong>एंडोर्फिन्स हमारे शरीर के अंदर बनने वाले प्राकृतिक दर्द निवारक होते हैं, जो हमें खुशी और आराम महसूस कराने में मदद करते हैं. ये ‘खुशी के रसायन’ के रूप में काम करते हैं. जब हम शारीरिक गतिविधियां करते हैं, जैसे कि दौड़ना, योग, या डांस करना, तो हमारे शरीर में एंडोर्फिन्स का उत्पादन होता है. इससे हमें न केवल खुशी का अनुभव होता है, बल्कि यह दर्द और तनाव से भी राहत दिलाता है.&nbsp;</p>
<p><strong>सेरोटोनिन<br /></strong>सेरोटोनिन जिसे आमतौर पर हमारे मूड को नियंत्रित करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. यह हमें खुश, संतुष्ट, और आराम महसूस कराने के लिए जिम्मेदार है. जब हमारे शरीर में सेरोटोनिन का स्तर सही होता है, हम आत्म-संतुष्टि की भावना, अच्छी नींद और बेहतर याददाश्त का अनुभव करते हैं.&nbsp;</p>
<p><strong>Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.</strong></p>
<p><strong>ये भी पढ़ें :<br /><a href="https://www.abplive.com/lifestyle/what-is-better-for-cleaning-clothes-liquid-detergent-or-detergent-powder-2591487">डिटर्जेंट पाउडर Vs लिक्विड डिटर्जेंट, कपड़ों की चमकदार सफाई के लिए क्या है बेहतर, यहां है जवाब</a></strong></p>



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.