सर्दी के मौसम में कर लें ये 4 वास्तु उपाय, सफलता के साथ मिलेगी अच्छी सेहत


Vastu Upay for Winter Season: दिसंबर में मौसम में काफी बदलाव आ जाता है, तापमान गिरते ही सर्दी परवान चढ़ने लगती है. ठंड का मौसम हमारे जीवन और परिवेश में बदलाव लेकर आता है. ऐसे में वास्तु  के अनुसार घर के साथ व्यक्ति को अपने खान-पान, कपड़े, दिनचर्या में कुछ चीजों का विशेष ध्यान रखना चाहिए.

आपकी जाने-अनजाने में की गई गलती सेहत के साथ धन-दौलत पर भी बुरा असर डाल सकती है. सर्दी में हमें सावधानी बरते हुए कुछ खास उपाय भी करना चाहिए, इससे संपन्नता आती है और स्वास्थ भी बेहतर रहता है. जानें सर्दियों में वास्तु के विशेष उपाय.

सर्दियों में करें ये उपाय

इन चीजों का दान – सर्दियों में अक्सर हम खान-पान को लेकर लापरवाह हो जाते हैं. ठंड में सेहत के साथ संपन्नता चाहिए तो घी, गुड़ का सेवन अधिक से अधिक करें. गु़ड़ का संबंध सूर्य से है. गुड़ का सेवन और इसका दान करने से मान-सम्मान, ऐश्वर्य और बल में वृद्धि होती है. इसके अलावा इन चीजों का जरुरतमंद लोगों को दान करें. ये उपाय न सिर्फ आपको ग्रहों के दुष्प्रभाव से बचाएगा बल्कि धन-दौलत में भी वृद्धि करेगा..

पर्दों का रखें ध्यान – ठंड से बचने के लिए लोग दरवाजों या खिड़की पर मोटे पर्दे लगा देते है लेकिन वास्तु के अनुसार ऐसा करना ठीक नहीं है क्योंकि इससे धूप घर में नहीं आती. घर में घूप के आने से सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है. इसका ध्यान रखें.

अंगीठी – वैसे तो अब कड़ाके की ठंड में लोग घरों में हीटर का इस्तेमाल करते हैं लेकिन जिन घरों में आज भी ठंड से बचने के लिए अंगीठी जलाई जाती है वह दिशा का जरुर ध्यान रखें. अंगीठी को हमेशा वायव्य कोण या अग्निकोण में ही जलाना चाहिए. ऐसा न करने से अंगीठी से जुड़ा वास्तु दोष उत्पन्न हो सकता है और परिवार को जन-धन से जुड़ी हानि झेलनी पड़ जाती है.

गुग्गल की घूप – हिंदू धर्म में घर की नकारात्मक ऊर्जा को समाप्त करने के लिए गुग्गल धूप जलाने का विधान रहा है. ठंड के कारण सूर्य का प्रकाश कम हो जाता है ऐसे में घरों में अंधेरा छाया होता है. अंधेरे के कारण नकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ता है, जिससे परिवार में क्लेश होना, मानसिक तनाव, बीमारियों का डेरा आदि समस्याएं आने लगती है. ऐसे में सर्दियों के मौसम में सप्ताह में दो बार गुग्गुल को उबले पर रखकर इसकी घूप पूरे घर में दें. इससे नेगेटिव एनर्जी का नाश होता है.

Masik Shivratri 2023: दिसंबर 2023 में मासिक शिवरात्रि कब है, नोट करें सही डेट और शुभ मुहूर्त

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.