जब भी स्ट्रोक आए तो आजमाएं FAST, हर उम्र में ऐसे घटा सकते हैं खतरा


स्ट्रोक या मस्तिष्काघात तब होता है जब हमारे दिमाग के किसी हिस्से में खून का बहाव अचानक से रुक जाता है. इससे हमारे दिमाग की कोशिकाएं ठीक से काम नहीं कर पातीं और हमारे शरीर के अंगों को हुक्म देने की उनकी क्षमता में गड़बड़ी आ जाती है. अगर स्ट्रोक का सही समय पर पता न चले और इलाज में देरी हो जाए, तो यह बहुत गंभीर समस्या का कारण बन सकता है, जैसे कि शरीर के किसी हिस्से का काम न करना या फिर जान जा सकती है. इसीलिए, स्ट्रोक के लक्षणों को पहचानने के लिए ‘FAST’ नामक एक आसान तरीका बताया गया है ताकि तुरंत मदद ली जा सके. आइए जानते हैं ‘FAST’क्या है? 

‘FAST’ फॉर्मूला स्ट्रोक के लक्षणों को जल्दी से पहचानने का एक सरल और प्रभावी तरीका है. इसमें ‘F’ से चेहरे की असमानता, ‘A’ से बाहों में कमजोरी, ‘S’ से बोलचाल में कठिनाई, और ‘T’ से समय के महत्व को दर्शाया गया है. जब ये लक्षण दिखाई दें, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी है. समय रहते इलाज शुरू करने से न केवल स्ट्रोक के गंभीर परिणामों को रोका जा सकता है, बल्कि किसी भी उम्र के व्यक्ति की जान भी बचाई जा सकती है.

F (Face)
चेहरे पर असमानता देखें. क्या एक तरफ का चेहरा लटक रहा है? जब आप चेहरे पर ध्यान देंगे तो पाएं कि एक तरफ का हिस्सा असामान्य रूप से नीचे की ओर झुका हुआ है, तो यह स्ट्रोक का संकेत हो सकता है. यह चेहरे की मांसपेशियों में कमजोरी दिखाता है, जो अक्सर स्ट्रोक के दौरान होती है. ऐसी स्थिति में तुरंत मेडिकल सहायता लेनी चाहिए.

A (Arms)
जब आप दोनों हाथों को उठाने की कोशिश करें और महसूस करें कि एक हाथ दूसरे हाथ की तुलना में कमजोर या भारी लगता है, तो सतर्क हो जाएं. यह बाहों में असमानता स्ट्रोक का एक आम लक्षण है, जो मांसपेशियों में कमजोरी या लकवे को दर्शाता है. ऐसे में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.