चावल की महंगाई से राहत देने के लिए सरकार ने लॉन्च किया भारत राइस, 29 रुपये प्रति किलो में होगा उपलब्ध


Rice Price Hike: आम लोगों को चावल की महंगाई से राहत देने के लिए मोदी सरकार ने भारत चावल को बाजार में लॉन्च कर दिया है. भारत चावल उपभोक्ताओं को 29 रुपये प्रति किलो के दाम पर मिलेगा. 5 किलो और 10 किलो के पैक में भारत चावल को लॉन्च किया गया है. 

खुदरा बाजार में चावल की कीमतों में बढ़ोतरी के चलते लोकसभा चुनाव से पहले आम लोगों को राहत देने के लिए सरकार ने भारत दाल और भारत आटा के बाद भारत चावल भी बाजार में उतार दिया है. पिछले एक साल में चावल की कीमतों में 15 फीसदी की बढ़ोतरी आई है. ऐसे में चावल की महंगाई से राहत देने के लिए सरकार ने 29 रुपये प्रति किलोग्राम की रियायती दर पर भारत चावल को खुदरा बाजार में उतारा है.  

खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने भारत चावल को लॉन्च करते हुए कहा कि सरकार यह सुनिश्चित करने का प्रयास कर रही है कि आम लोगों के लिए रोजमर्रा की खाद्य वस्तुएं सस्ती कीमतों पर उपलब्ध हो. उन्होंने कहा कि कीमतों को नियंत्रित करने के लिए सरकार के प्रयासों से लोगों को लाभ नहीं मिल पा रहा था तो सरकार ने प्राइस स्टैबिलिटी फंड के तहत खुदरा हस्तक्षेप शुरू किया है. खुदरा हस्तक्षेप के हिस्से के रूप में, मध्यम वर्ग के उपभोक्ताओं और गरीबों को राहत देने के लिए चावल को भारत ब्रांड के तहत 29 रुपये प्रति किलोग्राम पर खुदरा बेचा जाएगा. प्रत्येक किलो भारत चावल में पांच फीसदी टूटा चावल मिला होगा. 

पीयूष गोयल ने 100 मोबाइल वैन को भी हरी झंडी दिखाई जो भारत चावल’बेचेंगी और पांच लाभार्थियों को पांच किलो के पैक भी वितरित किए गए. एफसीआई पहले चरण में  नाफेड और एनसीसीएफ के साथ-साथ केंद्रीय भंडार को पांच लाख टन चावल उपलब्ध कराएगा. चावल को ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के जरिये भी बेचा जाएगा. 

खाद्य महंगाई में तेज उछाल के बाद सरकार भारत ब्रांड के नाम से पहले ही दाल और आटा बेच रही है. दाल की महंगाई से राहत दिलाने के लिए भारत ब्रांड के नाम से 60 रुपये प्रति किलो में चना दाल रिटेल मार्केट में बेचा जा रहा है. गेहूं की कीमतों में उछाल देखने को मिला तो सरकार आम लोगों को सस्ते दामों में आटा उपलब्ध कराने के लिए 27.50 रुपये प्रति किलो में आटा बेच रही है. और अब भारत चावल लॉन्च कर दिया गया है. 

ये भी पढ़ें 

Real Estate Sector: बेंगलुरु, मुंबई और Delhi NCR टॉप 10 रेसिडेंशियल मार्केट्स में शामिल, सबसे ज्यादा इन शहरों में बढ़ी कीमत!



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.