इस तरह से खाना खाने से बढ़ता है कर्ज, घर के बाहर खड़े रहते हैं लेनदार


Vastu tips, Eating Habits: कई बार मेहनत के बाद भी मनमाफिक सफलता नहीं मिल पाती, जीवन संघर्ष में गुजरता है. ऐसे समय पर व्यक्ति पूजा, पाठ तमाम उपाय करता है लेकिन तरक्की में बाधा बनी रहती है, व्यक्ति कर्ज में डूबता चला जाता है.

शास्त्रों के अनुसार आर्थिक परेशानी, नौकरी-व्यापार में असफलता का कारण हमारी जाने-अनजाने में की गई गलतियां भी हो सकती है. इन्हीं में से एक है भोजन के दौरान की गलती. वास्तु शास्त्र में भोजन से जुड़े कुछ खास नियम बताए गए हैं इनकी अनदेखी जिंदगी में कई समस्या ला सकती है. जानें भोजन के दौरान किन बातों का ध्यान रखें.

भोजन से नियम

इस तरह खाने से बढ़ता है कर्ज – जिन घरों में बिस्तर पर बैठकर खाना खाया जाता है वहां दरिद्रता पैर पसारती है. वास्तु के अनुसार बेड पर बैठकर खाना खाने से सेहत के साथ धन हानि भी होने लगती है और व्यक्ति धीरे-धीरे कर्ज में डूबता चला जाता है. मां लक्ष्मी उससे नाराज रहती हैं.

भोजन की दिशा – शास्त्रों के अनुसार भोजन की सही दिशा पूर्व या उत्तर बताई गई है. इस दिशा में मुख करके ही खाना खाना चाहिए. पूर्व दिशा की ओर मुख करके भोजन किया जाए तो आपको रोग ओर मानसिक तनाव जैसी समस्याओं से मुक्ति मिल सकती है. दक्षिण दिशा में मुंह करके भोजन नहीं करें. अगर आप नीचे नहीं बैठ सकते हैं तो डाइनिंग टेबल पर बैठ कर खाएं लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि खाने की थाली बैठने के स्थान से ऊपर हो.

खाते समय न पहने ये चीज – हिंदू धर्म में आठ प्रकार के धन बताए गए हैं. उसमें से अन्न धन भी एक धन है और अन्नपूर्णा जो अन्न की देवी है. भोजन ग्रहण करते समय जूते चप्पल नहीं पहनना चाहिए. इससे मां अन्नपूर्णा और लक्ष्मी का अनादर होता है. ऐसा करने पर धन का अभाव होने लगता है. कर्ज का बोझ बढ़ जाता है 

रसोई घर में बरतें ये सावधानी – गंदा रसोई घर आपको कभी भी फलने फूलने नहीं देगा और ऐसे घरों में नकारात्मक शक्तियों का आगमन होता है. ऐसे में हमेशा रात में ही बर्तनों को धो लेना चाहिए, इससे धन की हानि नहीं होती है. जूठे बर्तन बरकत छीन लेते हैं.

Chawal Ke Upay: चावल की पोटली का ये उपाय, घर में लाएगा शांति, दूर करेगा हर क्लेश

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें. 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.