आर्गन ट्रांसप्लांट डोनेशन में बढ़ी महिलाओं की भागीदारी, अब उन्हें मिल रही नई जिंदगी



<p style="text-align: left;">भारत में अंग प्रत्यारोपण को लेकर हाल ही में एक सकारात्मक बदलाव देखने को मिला है. पहले जहां अंग ट्रांसप्लांट के मामले में महिलाओं और पुरुषों के बीच बड़ा अंतर था, वहां 2022 में यह अंतर कम होकर 2.36:1 हो गया है.&nbsp; इसका मतलब है कि अब हर दो पुरुषों पर एक महिला को अंग प्रत्यारोपण की सुविधा मिल रही है. यह सुधार स्वास्थ्य मंत्रालय के विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों और अंगदान के नैतिक पहलुओं पर ध्यान देने के प्रयासों का परिणाम है.</p>
<p style="text-align: left;"><strong>महिलाओं की बढ़ी हिस्सेदारी</strong><br />टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के अनुसार&nbsp;स्वास्थ्य राज्य मंत्री सत्य पाल सिंह बघेल के अनुसार, 1995 से 2021 के बीच कुल 36,640 अंग प्रत्यारोपण किए गए, जिनमें 29,695 पुरुषों पर और 6,945 महिलाओं पर किए गए. इससे पता चलता है कि पहले की तुलना में महिलाओं के लिए अंग प्रत्यारोपण के अवसरों में वृद्धि हुई है. पहले जहां 2021 में हर चार पुरुषों पर सिर्फ एक महिला को अंग प्रत्यारोपण का मौका मिलता था, अब वह अनुपात सुधरकर 2.36:1 हो गया है. यानी कि अब हर दो पुरुषों के मुकाबले एक महिला अंग प्रत्यारोपण की सुविधा प्राप्त कर रही है. यह बदलाव स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा चलाए गए विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों और अंगदान के महत्व पर जोर देने के प्रयासों की वजह से हुआ है.&nbsp;</p>
<p style="text-align: left;"><strong>जानें इसके महत्व के बारे में&nbsp;<br /></strong>अंगदान का महत्व समझाते हुए, सरकार और विभिन्न संगठन लोगों को यह भी बताते हैं कि कैसे एक व्यक्ति के अंगदान से कई जिंदगियां बचाई जा सकती हैं. यह न सिर्फ मरीजों को नई जिंदगी देने का एक जरिया है बल्कि यह समाज में एकता और सहानुभूति का भी संदेश देता है. अंग प्रत्यारोपण जीवन रक्षक है. किसी व्यक्ति की मौत के बाद उसके स्वस्थ अंग दूसरे लोगों को नई जिंदगी दे सकते हैं. एक व्यक्ति से 8 लोगों के जीवन बचाए जा सकते हैं. अत: अंगदान से कई लोगों को फायदा होता है. गंभीर रोग से पीड़ित मरीज इससे जीवनदान पा सकते हैं. यह कृतज्ञता और मानवता की भावना को बढ़ाता है. सरकार अंगदान पर जागरूकता अभियान चला रही है ताकि अधिक से अधिक लोग इस महत्वपूर्ण कार्य में शामिल हों.&nbsp;<br /><br /><strong>यह भी पढ़ें&nbsp;<br /></strong><a title="खडूस है बॉस तो कैसे हैंडल करें वर्क प्रेशर? बेहद काम आएंगे ये आसान टिप्स" href="https://www.abplive.com/lifestyle/easy-tips-to-handle-a-difficult-boss-navigating-workplace-challenges-2607004" target="_self">खडूस है बॉस तो कैसे हैंडल करें वर्क प्रेशर? बेहद काम आएंगे ये आसान टिप्स</a></p>



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.