अब इस दिग्गज कंपनी ने लटकाई छंटनी की तलवार, हजारों कर्मचारी होने वाले हैं बेरोजगार


साल 2024 में दुनिया भर की कंपनियों में छंटनी की रफ्तार काफी तेज हो गई है. इस मामले में राहत की गुंजाइश दूर-दूर तक दिखाई नहीं दे रही है, क्योंकि हर गुजरते दिन के साथ छंटनी करने वालों की लिस्ट में नई-नई कंपनियों का नाम शामिल होता जा रहा है. अब इस लिस्ट में एक और दिग्गज कंपनी का नाम जुड़ने वाला है.

सिस्को ने की छंटनी की तैयारी

रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया की सबसे बड़ी नेटवर्किंग व सॉफ्टवेयर कंपनियों में से एक सिस्को आने वाले दिनों में छंटनी करने की तैयारी में है. अमेरिका की इस सबसे बड़ी नेटवर्किंग कंपनी के द्वारा छंटनी की तलवार लटकाने से हजारों कर्मचारियों के ऊपर बेरोजगार होने का रिस्क आ गया है. हालांकि कंपनी ने अभी ये तय नहीं किया है कि वह इस बार कितने कर्मचारियों को नौकरी से बाहर का रास्ता दिखाने वाली है.

इतने लोगों को दे रही नौकरी

सिस्को टेक जगत में एक बड़ा नाम है. कैलिफोर्निया के सैन जोसे में मुख्यालय वाली यह कंपनी सबसे ज्यादा नौकरियां देने वाली कंपनियों में गिनी जाती है. वित्त वर्ष 2022-23 के अंत में सिस्को के कुल कर्मचारियों की संख्या 84,900 थी. अब चूंकि कंपनी अपने व्यवसाय को रिस्ट्रक्चर करना चाह रही है, उनमें से हजारों कर्मचारियों की नौकरियां प्रभावित हो सकती हैं.

अगले सप्ताह ऐलान संभव

रॉयटर्स की रिपोर्ट में तीन सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि कंपनी अपने बिजनेस को रिस्ट्रक्चर करने के प्रयासों के तहत उन सेक्टरों पर ज्यादा ध्यान देना चाहती है, जिनमें ग्रोथ की बेहतर संभावनाएं हैं. सूत्रों के अनुसार, कंपनी इस छंटनी के बारे में अगले सप्ताह आधिकारिक तौर पर ऐलान कर सकती है. उसी समय छंटनी से प्रभावित होने वाले कर्मचारियों की संख्या व अन्य डिटेल के बारे में पता चल सकेगा. कंपनी 14 फरवरी को अर्निंग कॉल भी करने वाली है.

पहले भर कर चुकी है छंटनी

यह पहली बार नहीं है सिस्को कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा रही है. साल 2022 से ही चल रही छंटनी की इस लहर में कंपनी एक बार और छंटनी कर चुकी है. कंपनी ने नवंबर 2022 में भी एक अर्निंग कॉल के दौरान बिजनेस को रिस्ट्रक्चर करने का ऐलान किया था. उसमें कंपनी ने अपने टोटल वर्कफोर्स में से करीब 5 फीसदी की छंटनी की थी.

ये भी पढ़ें: अब इस मामले में भी चीन से आगे निकला भारत, मार्केट कैप के मामले में पहले ही छोड़ चुका है पीछे



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.